‘महान असफलता’: वीपी डिबेट में कमला हैरिस ने पेंस पर किया शुरुआती हमला

‘महान असफलता’: वीपी डिबेट में कमला हैरिस ने पेंस पर किया शुरुआती हमला

न्यूयॉर्क, | डेमोक्रेटिक उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस ने डोनाल्ड ट्रंप के रनिंग मेट माइक पेंस के खिलाफ पहली और एकमात्र वीपी डिबेट में शुरुआती हमला किया। यूटा के साल्ट लेक सिटी में आयोजित यह डिबेट स्थानीय समयानुसार रात को 9 बजे खत्म हुई।

ब्लू और काले रंग के पैंट शूट परिधान में हैरिस ने पहले सवाल का जवाब देते हुए बहस को शुरू किया, सवाल वायरस को लेकर था। उन्होंने कोविड-19 के लिए ट्रंप प्रशासन के रवैये को “हमारे देश के इतिहास में किसी भी राष्ट्रपति प्रशासन की सबसे बड़ी विफलता” कहा।

पहले 2 मिनट में सख्त प्रहार करते हुए हैरिस ने कहा, “उपराष्ट्रपति और राष्ट्रपति को इस महामारी की प्रकृति के बारे में 28 जनवरी को सूचित किया गया था। उन्हें बताया गया कि यह घातक है, क्योंकि यह हवा के माध्यम से भी संक्रामक है, यह युवा लोगों को प्रभावित करेगा और यह एक दूसरे से फैलेगा। वे जानते थे कि क्या हो रहा है और उन्होंने आपको नहीं बताया।”

इस बहस में हैरिस का लक्ष्य उनकी प्रेप टीम की लक्ष्य के मुकाबले दोगुना रहा, पहला यह कि घातक महामारी को लेकर ट्रंप की अराजक प्रतिक्रिया में पेंस को समान रूप से फ्रेम करना और दूसरा यह कि अगर बाइडन चुनाव जीतते हैं तो वैकल्पिक परि²श्य क्या होगा यह बताना।

राजनीतिक पर्यवेक्षकों ने कहा कि पेंस को ट्रंप के डूबते हुए जहाज से कूदने के बारे में सोचना चाहिए और एक जीवनरक्षक नाव पर चढ़कर दूर किसी अन्य द्वीप पर जाना चाहिए, जहां वह 2024 के चुनाव आने तक घूम सकें।

अक्सर वीपी डिबेट राष्ट्रपति राजनीति के समाचार चक्र में खो जाते हैं, लेकिन इस बार शायद कुछ अलग हो सकता है। पहले राष्ट्रपति की बहस और खुद के कोविड-19 संक्रमण के बाद ट्रंप के लिए राजनीति की कीमत पहले से ही बढ़ रही है।

ट्रंप अभियान की अराजकता ने इस कार्यक्रम को टीवी के तमाशे में बदल दिया है।

वीपी डिबेट में बाइडन-हैरिस द्वारा चलाए जा रहे हथियारों में से अधिकांश ट्रंप के स्वनिर्मित हथियार हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने स्वयं के चुनाव अभियान में चलने-फिरने वाले नकारात्मक विज्ञापन के तौर पर प्रवेश किया है।

ट्रंप के खिलाफ हेड टू हेड पोलिंग में बाइडन 9 अंक ऊपर हैं। गहरी पैठ बनाते हुए बाइडन ने छह राज्यों में अपनी बढ़त बढ़ा ली है। बाइडन के लिए रियलक्लेयर पॉलिटिक्स ने औसत 4.9 का अंतर रखा है।

ट्रंप के चुनाव के साथ व्हाइट हाउस अपने ए टीम पर हो रहे संक्रमण के प्रहार से हिल गया है। इसका अंदाजा डेमोक्रेट्स ने लगा लिया है और वह इस मौके को भुना रहे हैं।

ट्रंप और पेंस के लिए यह डिबेट बहुत उलझन भरा है, क्योंकि मुद्दा कोरोनावायरस है, जिससे 75 लाख अमेरिकी बीमार हैं, और 211,000 से अधिक की मौत हो गई है और यह ट्रंप के कार्यकाल में हुआ है।

ट्रंप, पिछले आठ महीनों से अमेरिकियों का ध्यान चमकते क्षेत्रों की ओर आकर्षित करने में लगे हैं, जिसमें स्टॉक मार्केट, ब्लीच, हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन, पराबैंगनी किरणें, ट्वीट्स, आव्रजन पर स्वाइप और यहां तक कि ताजमहल के दौरे की उनकी तस्वीर छाए रहे। इसके बाद उन्होंने बताया कि कोविड उनकी अब तक की सबसे बड़ी राष्ट्रीय सुरक्षा चुनौती होगी।

कोरोनावायरस ने उनके सभी चमकते गुब्बारों को हवा में उड़ा दिया और अमेरिकी चुनाव 2020 से मात्र 31 दिन पहले व्हाइट हाउस पर प्रहार किया। यह देखते हुए कि हैरिस 101 को हिप्पा शपथ का राजनीतिक संस्करण करने के लिए है: बाइडन के टिकट को कोई नुकसान न करें।

हालांकि परि²श्य को देखते हुए हैरिस पहले से तैयार थी और उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में डिबेट में प्रवेश किया।

अमेरिका के सबसे खराब सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल के दौरान पब्लिक हेल्थ पॉलिसी का आधार भी हैरिस के कदमों को नहीं हिला सकता है।

पेंस के लिए सबसे मुश्किल बिंदू कोरोनावायरस है। वहीं ट्रंप ने उन्हें कोरोनावायरस टास्क फोर्स के नेता के रूप में पेश किया था।

यदि हैरिस ट्रंप की ओर से पेंस को जवाब देने के लिए कहती हैं और पेंस मना करते हैं तो फिर उन्हें अपने लिए जवाब देना होगा। वहीं 211,000 अमेरिकियों की मौत के बाद भी अभी भी गिनती जारी है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि वायरस ही सब कुछ तय करेगा। तो इसे लेकर बहस जारी रहेगी।

मैनहट्टन से एक मतदाता अलेक्जेंडर पिकार्ड ने आईएएनएस को बताया, “मैं अपने राष्ट्रपति के लिए वैक्यूम क्लीनर रखना चाहता हूं। कोई भी हो लेकिन ट्रंप नहीं!”

English Website