पंजाब के किसानों ने स्वीकार किया केंद्र से बातचीत का आमंत्रण

पंजाब के किसानों ने स्वीकार किया केंद्र से बातचीत का आमंत्रण

चंडीगढ़, | पिछले कई दिनों से कृषि विधेयकों के विरोध में आंदोलन कर रहे पंजाब के 31 में से 29 किसान संगठनों ने मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी में केंद्र के साथ बैठक करने का फैसला किया है। आगे की कार्रवाई पर चर्चा करने के लिए आयोजित संगठनों की मीटिंग में यह निर्णय लिया गया। हालांकि, संगठनों ने सर्वसम्मति से यह निर्णय भी लिया है कि उनका विरोध 15 अक्टूबर तक जारी रहेगा। वहीं राज्यव्यापी ‘रेल रोको’ आंदोलन को लेकर कोई निर्णय नहीं हो सका।

केंद्र सरकार से मिलने का ये फैसला किसान संघों ने राज्य सरकार के मंत्री राजिंदर सिंह बाजवा के नेतृत्व में आए प्रतिनिधियों के साथ हुई बैठक के बाद लिया गया।

भारतीय किसान यूनियन (उग्रहन) ने भी रेल पटरियों पर बैठकर आंदोलन करना बंद कर दिया है, लेकिन उसने क्षेत्र के कॉरपोरेट घरानों के बाहर अपना विरोध तेज करने की कसम खाई है।

बता दें कि केंद्र सरकार ने प्रदर्शनकारी किसान संघों को चर्चा के लिए 14 अक्टूबर को नई दिल्ली आने के लिए कहा था। सरकार ने पिछले 5 दिनों 2 पत्र भेजकर किसानों से बैठक करने का अनुरोध किया था।

English Website