कोरोना की कठिन परिस्थितियों में भी किसानों ने दिखाई ताकत: मोदी

कोरोना की कठिन परिस्थितियों में भी किसानों ने दिखाई ताकत: मोदी

नई दिल्ली, | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों के परिश्रम और कृषि के क्षेत्र में प्रगति की सराहना करते हुए रविवार को कहा कि कोरोना की कठिन परिस्थितियों में भी किसानों ने अपनी ताकत दिखाई, जिससे देश में खरीफ की फसलों की बुआई पिछले साल के मुकाबले सात फीसदी ज्यादा हो चुकी है। रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात 2.0’ की 15वीं कड़ी में रविवार को प्रधानमंत्री ने कहा, ”हमारे किसानों ने कोरोना की इस कठिन परिस्थितियों में भी अपनी ताकत को साबित किया है। हमारे देश में इस बार खरीफ की फसलों की बुआई पिछले साल के मुकाबले सात प्रतिशत ज्यादा हुई है।”

मोदी ने कहा, ”धान की रोपाई इस बार करीब 10 प्रतिशत (पिछले साल से), दालों की बुवाई लगभग पांच प्रतिशत, मोटे अनाज लगभग तीन प्रतिशत, तिलहनों के लगभग 13 प्रतिशत, कपास लगभग तीन प्रतिशत ज्यादा हुई है। मैं, इसके लिए देश के किसानों को बधाई देता हूं, उनके परिश्रम को नमन करता हूँ।”

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय की ओर से बीते शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, देशभर में खरीफ फसलों की बुवाई रिकॉर्ड 1,082.22 लाख हेक्टेयर में हो चुकी है। इससे पहले खरीफ सीजन में रिकॉर्ड बुवाई 2016 के दौरान 1075.71 लाख हेक्टेयर में हुई थी।

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में दक्षिण भारत का कृषि पर्व ओणम का जिक्र किया। उन्होंने कहा, ”ओणम हमारी कृषि से जुड़ा हुआ पर्व है। ये हमारी ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लिए भी एक नई शुरूआत का समय होता है। किसानों की शक्ति से ही तो हमारा जीवन, हमारा समाज चलता है। हमारे पर्व किसानों के परिश्रम से ही रंग-बिरंगे बनते हैं।

उन्होंने कहा कि वेदों में भी किसानों की जीवनदायिनी शक्ति को नमन किया गया है। मोदी ने कहा, ”हमारे अन्नदाता को, किसानों की जीवनदायिनी शक्ति को तो वेदों में भी बहुत गौरवपूर्ण रूप से नमन किया गया है। ऋगवेद में मंत्र है-”अन्नानां पतये नम:, क्षेत्राणाम पतये नम: अर्थात, अन्नदाता को नमन है, किसान को नमन है।”

English Website