बाइडन ने वियना वार्ता में ईरान की गंभीरता के बारे में चिंता जताई

बाइडन ने वियना वार्ता में ईरान की गंभीरता के बारे में चिंता जताई

वाशिंगटन, | अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने शुक्रवार को वियना में ईरान की गंभीरता को लेकर चिंता जताई।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, व्हाइट हाउस में पूछे जाने पर कि क्या उन्हें लगा कि ईरान वियना में चल रही बातचीत के बारे में गंभीर है, बाइडन ने जवाब दिया, “हां। लेकिन वे कितने गंभीर और क्या करने के लिए तैयार हैं, यह एक अलग मुद्दा है।”

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जेन साकी ने बाद में एक दैनिक प्रेस ब्रीफिंग में बताया कि पिछले हफ्तों की वार्ता में कुछ प्रगति हुई थी।

इस बीच, उन्होंने दोहराया कि संयुक्त राज्य अमेरिका ” जेसीपीओए अनुपालन के लिए आवश्यक प्रतिबंधों को उठाने के लिए तभी तैयार होगा जब ईरान अपने परमाणु कार्यक्रम को अपने जेसीपीओए स्थिति में वापस लेने के लिए तैयार हो।”

ईरान परमाणु समझौते के संभावित वापसी पर चौथे दौर की वार्ता शुक्रवार को वियना में शुरू हुई।

विदेश विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि अमेरिका और ईरान आने वाले हफ्तों में ईरान परमाणु समझौते के अनुपालन के लिए एक पारस्परिक समझौता कर सकते हैं यदि तेहरान एक “राजनीतिक निर्णय लेता है।”

ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने बुधवार को कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका जानता है कि उसे कानून में वापस आना होगा और परमाणु समझौते से संबंधित अपने दायित्वों को मानना होगा।

English Website