तालिबान ने की बचे कैदियों की रिहाई की मांग

तालिबान ने की बचे कैदियों की रिहाई की मांग

काबुल/दोहा, | दोहा में अफगानिस्तान की सुलह जाल्मे खलीलजाद के लिए अमेरिका के एक विशेष प्रतिनिधि के साथ बैठक के दौरान तालिबान ने अफगानिस्तान के जेलों में फिलहाल बंद बाकी बचे कैदियों के लिए रिहाई की मांग की है। आतंकी समूह के एक प्रवक्ता के हवाले से इसकी जानकारी मिली है।

टोलो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुवार को जारी एक बयान में तालिबान के प्रवक्ता मोहम्मद नईम ने कहा कि बुधवार को आयोजित बैठक में दोनों पक्षों ने अमेरिका और तालिबान के बीच शांति समझौते के कार्यान्वयन के मुद्दों पर चर्चा की।

अफगान सरकार अब तक 5,600 तालिबान कैदियों को रिहा कर चुकी है, जो कि 12 सितंबर को आधिकारिक तौर पर शुरू हुए शांति वार्ता से पहले की गई शर्तो का हिस्सा थी।

लेकिन, अफगानिस्तान सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा कि शेष कैदियों की रिहाई की तालिबान की मांग का शांति प्रक्रिया में कोई महत्व नहीं है।

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति के प्रवक्ता सेडिक सेडिक्की ने कहा, “तालिबान ने अपनी कार्रवाई में जो कहा है और कर दिखाया है, उसने शांति प्रक्रिया को कमजोर कर दिया है। हिंसा बनाए रखने और अपने बयान को गलत ढंग से पेश करने और कैदियों का मुद्दा उठाए जाने से शांति की राह पर बाधा उत्पन्न हो रही है।”

English Website