एनपीसी अध्यक्ष ली चेनशू ने ब्रिक्स के छठे संसद मंच में भाग लिया

एनपीसी अध्यक्ष ली चेनशू ने ब्रिक्स के छठे संसद मंच में भाग लिया

बीजिंग, | चीनी राष्ट्रीय जन प्रतिनिधि सभा (एनपीसी) की स्थाई समिति के अध्यक्ष ली चेनशू ने 27 अक्तूबर को पेइचिंग में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ब्रिक्स देशों के छठे संसद मंच में भाग लिया और भाषण दिया। ली चेनशू ने बताया कि राष्ट्रपति शी चिनफिंग के नेतृत्व में चीन ने कोविड-19 महामारी के साथ हुए संघर्ष में भारी रणनीतिक उपलब्धि हासिल की है। इस साल के पहले 9 महीनों में चीन की जीडीपी में 0.7 प्रतिशत वृद्धि हुई, जो महामारी के बाद सकारात्मक वृद्धि प्राप्त करने वाला पहला मुख्य आर्थिक समुदाय है। इस ने विश्व आर्थिक बहाली के लिए योगदान दिया और विश्वास भी कायम किया है।

ली चेन शू ने बल दिया कि एकजुटता और सहयोग महामारी के मुकाबले का सबसे शक्तिशाली हथियार है। अगर विभिन्न देश एक दूसरे को मदद देंगे और हाथों में हाथ मिलाएंगे, तो अवश्य ही इस महामारी को पराजित किया जा सकेगा।

ली चेनशू ने ब्रिक्स देशों की विधान संस्थाओं के बीच सहयोग बढ़ाने पर चार सूत्रीय सुझाव पेश किये। पहला, सार्वजनिक स्वास्थ्य क्षेत्र में सहयोग बढ़ाना। दूसरा, खुलेपन, नवाचार व विकास पर कायम रहकर विश्व आर्थिक बहाली के लिए कानूनी समर्थन प्रदान किया जाए। तीसरा, अंतरराष्ट्रीय कानून का प्राधिकार बनाए रखकर अधिक न्यायपूर्ण व युक्तियुक्त अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के निर्माण को बढ़ाना। चौथा, ब्रिक्स तंत्र के तहत विधान संस्थाओं के बीच सहयोग गहराना।

ब्रिक्स देशों के संसद अध्यक्षों ने इस मंच में भाग लेकर वैश्विक स्थिरता बनाए रखने, समान सुरक्षा की गारंटी करने और नवाचार व समृद्धि बढ़ाने वाली ब्रिक्स देशों की साझेदारी पर गहराई से विचार किया। इस मंच में घोषणा पत्र भी जारी किया गया।

English Website