अफगानिस्तान में तैनात सैनिक क्रिसमस तक घर पर होने चाहिए: ट्रंप

अफगानिस्तान में तैनात सैनिक क्रिसमस तक घर पर होने चाहिए: ट्रंप

वाशिंगटन, | अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संकेत दिया है कि अफगानिस्तान में तैनात अमेरिकी सैनिक क्रिसमस पर घर पर हो सकते हैं। गौरतलब है कि पिछले महीने की गई घोषणा के अनुसार वाशिंगटन नवंबर तक युद्धग्रस्त देश से हजारों सैन्य कर्मियों को वापस बुलाने वाला है। राष्ट्रपति ने बुधवार देर रात ट्वीट के माध्यम से कहा, “हमें अपने बहादुर पुरुषों और महिला सैनिकों की शेष बची संख्या को क्रिसमस पर घर पर लाना चाहिए।”

ट्रंप की टिप्पणी में कोई अन्य जानकारी उपलब्ध नहीं थी।

पिछले महीने यूएस सेंट्रल कमांड के कमांडर केनेथ मैकेंजी ने कई मीडिया आउटलेट्स को बताया कि अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों की संख्या को नवंबर की शुरुआत में लगभग 4,500 के स्तर तक घटा दिया जाएगा।

वहीं पेंटागन के प्रमुख मार्क ग्रैफ ने भी अगस्त में पुष्टि की थी कि नवंबर के अंत तक सैनिकों की संख्या को 5,000 से कम कर दिया जाएगा।

पिछले महीने पेंटागन ने कहा था कि फरवरी के अंत में हस्ताक्षरित यूएस-तालिबान समझौते की शर्तों को पूरा करते हुए वाशिंगटन ने अफगानिस्तान में सैनिकों की संख्या 8,000 के करीब बनाए रखी है।

इस समझौते के तहत मई 2021 तक अफगानिस्तान से अमेरिकी सैन्य बलों की पूर्ण वापसी के लिए कहा गया था, हालांकि ऐसा तभी मुमकिन होगा, जब तालिबान इस समझौते की शर्तों को पूरा करेगा।

सैनिकों की संख्या को कम करना ट्रंप के चुनाव प्रचार के वादों का हिस्सा रहा है।

अफगानिस्तान में युद्ध में लगभग 2,400 अमेरिकी सैनिकों की मौत हुई है।

English Website