केरल: सचिव के बेटे के पांच ठिकानों पर ईडी का छापा, ‘बेनामी’ सौदों का हुआ खुलासा

केरल: सचिव के बेटे के पांच ठिकानों पर ईडी का छापा, ‘बेनामी’ सौदों का हुआ खुलासा

तिरुवनंतपुरम। केरल सीपीआई-एम के सचिव कोडिएरी बालाकृष्णन के बेटे बिनीश कोडिएरी के घर पर प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों की एक टीम ने बुधवार सुबह छापा मारा। इस घर में उनके पिता कोडिएरी बालाकृष्णन भी रहते हैं। हालांकि, छापे के समय बालकृष्णन घर में मौजूद नहीं थे।

इसके अलावा ईडी ने बिनीश कोडियरी के व्यापारिक हितों से जुड़े 5 ठिकानों पर भी छापे मारे। अधिकारियों ने कहा कि छापे बिनीश से मिली जानकारियों के आधार पर मारे गए, जो कि 29 अक्टूबर से उनकी हिरासत में है।

बिनीश को धन शोधन निवारण अधिनियम के आरोपों के तहत गिरफ्तार किया गया था। वह शनिवार को कोर्ट में पेश किए जाने तक ईडी की हिरासत में रहेगा। सूत्रों के अनुसार बिनीश से पूछताछ में उसके दोस्तों और कारोबारी सहयोगियों के कथित ‘बेनामी’ सौदों का खुलासा हुआ है। इसमें कार एसेसरीज का एक प्रमुख व्यवसायी, होटल में मार्बल्स और ग्रेनाइट सप्लाई करने वाला डीलर शामिल है।

मंगलवार शाम को ईडी के राज्य की राजधानी पहुंचने की खबर फैलते ही घर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई थी। बुधवार की सुबह ईडी की टीम सीआरपीएफ और कर्नाटक पुलिस के सशस्त्र अधिकारियों के साथ यहां पहुंची तो बालकृष्णन या बिनीश के परिवार का कोई भी सदस्य वहां मौजूद नहीं था। 30 मिनट बाद ही कुछ लोगों के जरिए घर की चाबी जांच एजेंसी के अधिकारियों को भेज दी गई।

जब ईडी के अधिकारी घर पर इंतजार कर रहे थे, तभी अधिकारियों की एक और टीम अब्दुल लतीफ के शोरूम पर पहुंची। लतीफ बिनीश के सबसे करीबी सहयोगियों में से एक है और उसके राजधानी में कई व्यापार हैं, जिनमें कार एसेसरीज का स्टोर, होटल और मुद्रा विनिमय करने संबंधी बिजनेस शामिल हैं।

इस बीच बालाकृष्णन ने मीडिया के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि मीडिया का एक वर्ग सीपीआई-एम को निशाना बना रहा है, जबकि यही लोग विपक्षी कांग्रेस नेताओं के विभिन्न भ्रष्ट सौदों पर चुप्पी साधे थे।

भले ही सीपीआई-एम का राष्ट्रीय नेतृत्व मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन और बालाकृष्णन के पीछे मजबूती से खड़ा दिखाई दे रहा है, लेकिन सभी की नजर इस सप्ताह के आखिर में होने वाली पार्टी की राज्य इकाई की 2 दिवसीय बैठक पर है। वहीं सोशल मीडिया पर सीपीआई-एम को जबरदस्त ट्रोल जा रहा है।

English Website