उपचुनाव: चंबल की मुरैना सीट पर जातिवाद हावी

उपचुनाव: चंबल की मुरैना सीट पर जातिवाद हावी

टीम एब्सल्यूट भोपाल ग्वालियर-चंबल की मुरैना सीट पर जातिवाद हावी है। हर बार चुनाव नतीजे को प्रभावित करते हैं। इसलिए भाजपा और कांग्रेस के साथ ही बसपा भी इस फेक्टर को ध्यान में रखकर अपने उम्मीदवार घोषित करते हैं। गुर्जर जाति निर्णायक भूमिका में रहती है। यह सीट गुर्जर जाति बाहुल्य क्षेत्र है। गुर्जरों में यहां मावई, हषार्ना, कंषाना, राणा और घुरैया उपजातियों में हैं लेकिन इन मतदाताओं में भी आपसी मतभेद है। कांग्रेस या भाजपा की तरफ से गुर्जर उम्मीदवार उतरते है तो गुर्जर वोट आपस में बट जाते हैं। राजपूत और ब्राह्मण मतदाताओं की कुछ संख्या भी है लेकिन गुर्जर मतदाताओं की सबसे अधिक आबादी है। निर्णायक भूमिका में अनुसूचित जाति के जाटव मतदाता और ओबीसी में आने वाली अन्य जातियां भी हैं। मुरैना विधानसभा में वैश्य वोट बैंक भी अपना रसूख रखता है।
ओबीसी की गुर्जर जाति का है बाहुल्य
मुरैना विधानसभा सीट में 56000 के करीब गुर्जर मतदाता है जो यहां की किसी और जाति से सबसे अधिक हैं। यही कारण है कि कांग्रेस और बीजेपी गुर्जर उम्मीदवार को मैदान में उतारती है। मुरैना विधानसभा क्षेत्र में गुर्जर मावई, कंषाना, हषार्ना घुरैया जैसी उपजातियों में बंटे हैं। इनमें भी मतभेद है जिनसे खेमे बने हुए है। एक खेमा भाजपा उम्मीदवार तो दूसरा खेमा कांग्रेस की और ढुल जाता है। फिलहाल यहां रूस्तम सिंह और रघुराज कंषाना गुर्जर समाज के बडे नेता हैं। 2018 में कांग्रेस से रघुराज कंषाना विधायक चुने गये थे लेकिन सिंधिया में आस्था के चलते इस्तीफा देकर भाजपा में आ गये हैं। रघुराज के बीजेपी में आ जाने से रूस्तम सिंह की सियासत पर खतरा है। ओबीसी में आने वाली अन्य जातियां जैसे कुशवाह, यादव, राठौर कोली जाति के भी मुरैना विधानसभा में मतदाता हैैं जो चुनाव में निर्णायक भूमिका रखते हैं।
पिछले तीन विधानसभा चुनावों का नतीजा
विधानसभा चुनाव-2008
2008 में बसपा से परशुराम मुद्गिल विजयी रहे। दूसरे नंबर पर कांग्रेस के सोबरन मावई रहे। तीसरे स्थान पर बीजेपी से रूस्तम सिंह।
किस पार्टी को कितने परसेंट : बसपा को 38.66%, कांग्रेस को 33.40% तथा बीजेपी को 23.31% वोट मिले।
विधानसभा चुनाव- 2013
बीजेपी के रूस्तम सिंह विजयी रहे। बसपा के रामप्रकाश राजौरिया दूसरे स्थान पर रहे और कांग्रेस के दिनेश गुर्जर तीसरे स्थान पर।
किस पार्टी को कितने परसेंट : बीजेपी को 40.52%, बसपा को 39.31 %तथा दिनेश गुर्जर को 15.57% वोट मिले।
विधानसभा चुनाव- 2018
कांग्रेस के रघुराज कंषाना विजयी रहे। बीजेपी के रूस्तम सिंह दूसरे नंबर पर तथा बसपा के बलबीर डंडौतिया तीसरे स्थान पर।
किस पार्टी को कितने परसेंट वोट : कांग्रेस को 45.62 %, बीजेपी को 31.83% तथा बसपा को 13.99% वोट मिले।

English Website