उद्धव के ‘हिंदुत्व’ पर बीजेपी ने उठाए सवाल, ‘सावरकर की प्रशंसा पर एक शब्द भी नहीं बोल पाए’

उद्धव के ‘हिंदुत्व’ पर बीजेपी ने उठाए सवाल, ‘सावरकर की प्रशंसा पर एक शब्द भी नहीं बोल पाए’

मुंबई दशहरे के मौके पर महाराष्ट्र सीएम उद्धव ठाकरे के देवेंद्र फडणवीस पर हमला बोलने के बाद बीजेपी ने पलटवार किया है। बीजेपी नेता राम कदम ने कहा कि उद्धव सावरकर स्टेडियम से रैली करते हैं लेकिन उनके लिए कुछ नहीं कहते। राम कदम ने कहा कि शायद उद्धव अपने नए दोस्तों से डरते हैं। बता दें कि शिवसेना की वार्षिक दशहरा रैली में उद्धव ने बीजेपी और केंद्र सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि हिम्मत है तो सरकार गिराकर दिखाओ।

‘अपने नए दोस्तों से डरते हैं उद्धव’
बीजेपी नेता राम कदम ने ट्वीट करते हुए उद्धव पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘शिवसेना ने दशहरा रैली सावरकर सभागार से आयोजित करके हिंदुत्व पर सीख दी। सवाल यह है कि सीएम उद्धव वीर सावरकर की प्रशंसा का एक भी शब्द क्यों नहीं बोले? शायद वो अपने नए दोस्तों से डरते हैं जो वीर सावरकर के खिलाफ अपमानजनक बयानों का बार-बार इस्तेमाल करते रहे हैं।’

महाराष्ट्र बीजेपी के प्रवक्ता केशव उपाध्ये ने आरोप लगाया कि ठाकरे के पास शिवसैनिकों को अपनी सरकार के काम के बारे में बताने के लिए कुछ भी नहीं था। उन्होंने कहा, ‘सत्ता के लिए शिवसेना ने हिंदुत्व से समझौता किया। उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस के सावरकर की आलोचना पर एक भी शब्द नहीं बोला और उन्हें सावरकर स्टेडियम से दशहरा रैली को संबोधित करना पड़ा। यह आदर्श न्याय है।’

उद्धव सरकार ने किसानों के साथ किया मजाक
बीजेपी प्रवक्ता ने आगे कहा कि राज्य सरकार ने दस हजार करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा कर किसानों के साथ मजाक किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार ने केंद्र के जीएसटी प्रस्ताव का जवाब नहीं दिया। उपाध्ये ने कहा कि देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा इसी राज्य में है।

केंद्र को सरकार गिराने में रुचि
उद्धव ठाकरे ने शिवसेना की दशहरा रैली के दौरान बीजेपी यह कहते हुए प्रहार किया कि अगर केंद्र सरकार देश की अर्थव्यवस्था सुधारने के बजाए केवल सरकारों को गिराने में रुचि रखती है तो देश में अराजकता फैल जाएगी।

उद्धव की बीजेपी को चुनौती
उद्धव ने कहा था, ‘जिस दिन से मैं मुख्यमंत्री बना तब से यह कहा जा रहा था कि राज्य सरकार गिर जाएगी। मैं चुनौती देता हूं और कहता हूं कि यदि आपमें साहस है तो ऐसा करके दिखाओ।’

उद्धव ने बताया अपना हिंदुत्व
उद्धव ठाकरे ने यह भी कहा, ‘हमसे हमारे हिंदुत्व के बारे में पूछा जाता है क्योंकि हम राज्य में फिर से मंदिर नहीं खोल रहे हैं। वे कहते हैं कि मेरा हिंदुत्व बाला साहेब ठाकरे से अलग है। खैर, आपका हिंदुत्व घंटियां और बर्तन बजाने वाला है। हमारा हिंदुत्व वैसा नहीं है।’

English Website