मुंबई और बैंगलोर में आज होगी बादशाहत की जंग, जो जीता वह प्लेऑफ में

मुंबई और बैंगलोर में आज होगी बादशाहत की जंग, जो जीता वह प्लेऑफ में

अबु धाबी। रोहित शर्मा के चोटिल होने के कारण लगातार तीसरे मैच से बाहर रहने की संभावना है, जिसमें मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की निगाहें इंडियन प्रीमियर लीग के प्लेऑफ में जगह पक्की करने पर टिकी रहेंगी। मुंबई को पिछले मैच में राजस्थान रॉयल्स से आठ विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। उसके 14 अंक हैं। विराट कोहली की अगुवाई वाली आरसीबी के भी 14 अंक हैं। उसे भी रविवार को चेन्नै सुपर किंग्स से हार झेलनी पड़ी थी। बुधवार को जो भी टीम जीत दर्ज करेगी उसकी प्लेऑफ में जगह सुरक्षित हो जाएगी।

रोहित की फिटनेस इस मैच से पहले चर्चा का विषय बन गयी है। वह हैमस्ट्रिंग की चोट के कारण पिछले दो मैचों में नहीं खेले थे। मुंबई इंडियंस के कप्तान ने सोमवार को नेट्स पर अभ्यास किया। संयोग से इसी दिन उन्हें आस्ट्रेलिया दौरे के लिये टीम में नहीं चुना गया था। मुंबई इंडियंस या भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) की तरफ से उनकी फिटनेस को लेकर कोई स्पष्ट बयान जारी नहीं किया गया है। रोहित की अनुपस्थिति में मुंबई को सौरभ तिवारी और इशान किशन पर भरोसा दिखाना होगा।

क्विंटन डि कॉक (374 रन) राजस्थान के खिलाफ नाकाम रहे थे और वह प्रभाव छोड़ने के लिये बेताब होंगे। किशन (298 रन) और सूर्यकुमार यादव (283 रन) उसके अन्य बल्लेबाज हैं जिन्होंने अब तक अहम योगदान दिया है। हार्दिक पंड्या ने राजस्थान के खिलाफ सात छक्के जड़कर लंबे शॉट खेलने की अपनी क्षमता का खुलकर प्रदर्शन किया था। हार्दिक के अलावा कार्यवाहक कप्तान कायरन पोलार्ड और क्रुणाल पंड्या टीम में ऐसे खिलाड़ी हैं जो लंबे शॉट खेलने में माहिर हैं और दोनों टीमों में अंतर पैदा कर सकते हैं।

मुंबई के गेंदबाज पिछले मैच को भुलाकर नयी शुरूआत करना चाहेंगे। पिछले मैच में राजस्थान के बेन स्टोक्स और संजू सैमसन के सामने उनकी एक नहीं चली थी। ट्रेंट बोल्ट और जसप्रीत बुमराह ने अभी तक गेंदबाजी विभाग का मोर्चा अच्छी तरह से संभाला है। इन दोनों ने मिलकर 33 विकेट लिये हैं। तीसरे तेज गेंदबाज के लिये मुंबई को जेम्स पैटिनसन और नाथन कूल्टर नाइल में से किसी एक को चुनना होगा। आरसीबी की तरफ से कप्तान कोहली (415 रन) अपनी शानदार फार्म जारी रखना चाहेंगे।

आस्ट्रेलियाई आरोन फिंच (236 रन), युवा देवदत्त पडिक्कल (343 रन) और एबी डि विलियर्स (324 रन) को अधिक निरंतरता दिखाने की जरूरत है। एरॉन फिंच का फॉर्म अभी भी चिंता का विषय है। देवदत्त पडिक्कल और विराट कोहली के बल्ले से रन तो निकल रहे है लेकिन उनकी स्ट्राइक रेट काफी धीमी रही है। अगर आरसीबी के शीर्ष क्रम के सभी बल्लेबाज योगदान देते हैं तो फिर विरोधी टीम परेशानी में पड़ सकती है। क्रिस मॉरिस, मोईन अली और गुरकीरत मान भी निचले मध्यक्रम में अहम योगदान दे सकते हैं। लेकिन आरसीबी की टीम नवदीप सैनी के चोटिल होने के कारण गेंदबाजी विभाग को लेकर चिंतित है। सैनी के मुंबई के खिलाफ मैच में खेलने को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। अगर वह नहीं खेलते हैं तो मॉरिस और मोहम्मद सिराज के अलावा इसुरु उदाना की जिम्मेदारी भी बढ़ जाएगी।

English Website