इस अद्भूत सपने को जीने के लिए मैं हमेशा आभारी हूं : वॉटसन

इस अद्भूत सपने को जीने के लिए मैं हमेशा आभारी हूं : वॉटसन

नई दिल्ली, | आस्ट्रेलिया के पूर्व ऑलराउंडर शेन वॉटसन ने इंडियन प्रीमियर प्रीमियर लीग (आईपीएल) सहित क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा कर दी है। वॉटसन ने टी20 स्टार्स डॉट कॉम पर ‘ मैं संन्यास की घोषणा करता हूं’ शीर्षक से एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने यह बात कही है।

वॉटसन ने कहा, ” जैसे ही एक अद्भुत चैप्टर बंद होता है, एक और बहुत ही रोमांचक खुल जाता है। सभी का धन्यवाद, जिन्होंने मेरे लिए अच्छा किया। संन्यास लेने का यह फैसला काफी कठिन होने वाला है लेकिन मैं पूरी कोशिश करूंगा।”

2002 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले वॉटसन ने आस्ट्रेलिया के लिए 59 टेस्ट, 190 वनडे और 58 टी20 मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 14000 से भी अधिक रन बनाए हैं। इसके अलावा उन्होंने 291 विकेट भी लिए हैं। उन्होंने 2016 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था।

वॉटसन ने वीडियो में कहा, ” यह सब एक सपने के रूप में शुरू हुआ। एक युवा बच्चे के रूप में, जब मैं पांच साल का था तब टेस्ट मैच देख रहा था, मैंने अपनी मां से कहा कि मैं आस्ट्रेलिया के लिए क्रिकेट खेलना चाहता हूं। अब जैसा कि मैं आधिकारिक तौर पर क्रिकेट के सभी प्रारूपों से अपने संन्यास की घोषणा करता हूं। मैं वास्तव में इस अद्भूत सपने को जीने के लिए हमेशा आभारी हूं।”

39 वर्षीय वॉटसन ने आईपीएल में अब तक 145 मैचों में 137.91 की औसत से 3874 रन बनाए हैं। इसमें उन्होंने चार शतक भी लगाए हैं और साथ एक हैट्रिक सहित 92 विकेट भी चटकाए हैं। इसके अलावा वह राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की कप्तानी भी कर चुके हैं।

वॉटसन की चेन्नई टीम आईपीएल-13 से पहले ही बाहर हो चुकी है। टीम आईपीएल के इतिहास में पहली बार प्लेऑफ में जगह नहीं बना पाई है। आईपीएल-13 में वॉटसन के बल्ले से 11 मैचों में 299 रन ही निकले हैं।

वॉटसन ने 2008 में राजस्थान रॉयल्स के साथ और 2018 में चेन्नई सुपर किंग्स के साथ आईपीएल खिताब जीता है। इसके अलावा वह 2008 और 2013 में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट रह चुके हैं।

English Website