प्रमुख आर्थिक आंकड़ों से तय होगी शेयर बाजार की चाल

प्रमुख आर्थिक आंकड़ों से तय होगी शेयर बाजार की चाल

मुंबई, | घरेलू शेयर बाजार में बीते दो सप्ताह के दौरान तेजी बनी रही, लेकिन आगामी कारोबारी सप्ताह में बाजार की चाल प्रमुख आर्थिक आंकड़ों से तय होगी। खासतौर से सप्ताह के आरंभ में ही जारी होने वाले चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के जीडीपी के आंकड़ों समेत अन्य प्रमुख आर्थिक आंकड़ों से बाजार को दिशा मिलेगी। मानसून के महरबान रहने से देश में खरीफ फसलों की रिकॉर्ड बुवाई हुई है, जिससे बंपर पैदावार की उम्मीद की जा रही है। जानकार बताते हैं कि बाजार के लिए यह सकारात्मक संकेत है क्योंकि बंपर पैदावार से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी इसलिए निवेशक इससे उत्साहित होंगे।

आगामी कारोबारी सप्ताह के दौरान एक सितंबर से ही ऑटो कंपनियों बीते महीने अगस्त में हुई बिक्री के अपने आंकड़े जारी करेंगी जिन पर निवेशकों की नजर होगी।

मगर, इससे पहले सोमवार को ही राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) की ओर से चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के अनुमान जारी हो सकते हैं। इसके अलावा, देश के इन्फ्रास्ट्रक्च र क्षेत्र के जुलाई महीने के आउटपुट के आंकड़े भी इसी दिन जारी होने वाले हैं। अगले दिन मंगलवार को मार्किट मैन्युफैक्चरिंग के अगस्त महीने के आंकड़े जारी होंगे जबकि अगस्त महीने के मार्किट सर्विसेस पीएमआई के आंकड़े गुरुवार को जारी होंगे। इन आंकड़ों से घरेलू शेयर बाजार का रुख तय होगा।

देश में कोरोना महामारी का संकट लगातार गहराता जा रहा है, लेकिन इस बीच अनलॉक-चार में केंद्र सरकार द्वारा अर्थव्यवस्था के कुछ और क्षेत्र को खोलने से आर्थिक गतिविधियों में तेजी आने की उम्मीद की जा रही है। देश की राजधानी दिल्ली की लाइफलाइन के रूप में शुमार दिल्ली मेट्रो को भी परिचालन शुरू करने की इजाजत दी गई है।

वैश्विक मोर्चे की बात करें तो अमेरिका और चीन के बीच तकरार का साया शेयर बाजार पर बना रहेगा। वहीं, चीन, जापान, अमेरिका और यूरोप में जारी होने वाले प्रमुख आर्थिक आंकड़ों पर भी बाजार की नजर होगी। सप्ताह के आरंभ में सोमवार को ही चीन में अगस्त महीने के एनबीएस मैन्युफैक्च रिंग और एनबीएस नॉन-मैन्युफैक्च रिंग पीएमआई के आंकड़े जारी होंगे। चीन में इसके अलावा, जुलाई महीने के कैक्सिन मैन्युफैक्च रिंग पीएमआई के आंकड़े मंगलवार को जारी होंगे।

इससे पहले सोमवार को ही जापान में जुलाई महीने के औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े जारी होंगे। यूरो एरिया मार्किट मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई के अगस्त महीने के आंकड़े मंगलवार को आने वाले हैं जबकि कारोबारी सप्ताह के आखिर में शुक्रवार को अमेरिका में अगस्त महीने के दौरान गैर-कृषि क्षेत्र के रोजगार के आंकड़े जारी होंगे। इन आंकड़ों से वैश्विक शेयर बाजार की चाल तय होगी जिसका असर भारतीय शेयर बाजार पर भी रहेगा।

घरेलू शेयर बाजार में बीते दो सप्ताह के दौरान तेजी का रुझान देखने को मिला। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स बीते शुक्रवार को 1,032.59 अंकों यानी 2.69 फीसदी की साप्ताहिक तेजी के साथ 39,467.31 पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी भी 276 अंकों यानी 2.42 फीसदी की साप्ताहिक बढ़त के साथ 11,647.60 पर बंद हुआ।

घरेलू शेयर बाजार में इस सप्ताह निवेशकों की नजर डॉलर के मुकाबले देसी करेंसी रुपये की चाल और अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में उतार-चढ़ाव पर भी रहेगी। इसके अलावा विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों और घरेलू संस्थागत निवेशकों के निवेश के प्रति रुझान से बाजार को दिशा मिलेगी।

English Website